हनीप्रित को मिली राहत और गुरमीत राम रहीम को मिली आफत

अब हनीप्रित को मिली राहत और गुरमीत राम रहीम को मिली आफत


अब हनीप्रित को मिली राहत और गुरमीत राम रहीम को मिली आफत: Latest Indians News
अब हनीप्रित को मिली राहत और गुरमीत राम रहीम को मिली आफत

अंबाला सेंट्रल जेल में बंद हनीप्रित अब अपने परिजनों से मोबाइल के जरिये बात कर सकेगी


गुरमीत राम रहीम पर भले ही इस नए साल पर उनके लिए आफत आ गई हो, लेकिन राम रहीम की बेटी हनीप्रित जिसको राम रहीम ने गोद लिया है उसको राहत मिली हैं | हाई कोर्ट ने  हनीप्रित को बड़ी सुविधा दी हैं | जी हां, हरियाणा एवं पंजाब के हाई कोर्ट ने हनीप्रित को बड़ी सुविधा दी है जिससे हनीप्रित को राहत मिली हैं | अम्बाला के सेंट्रल जेल में बंद हनीप्रित को हाई कोर्ट ने जेल में ही मोबाइल कालिंग की सुविधा मिलेगी | हनिप्रित को ये सुविधा देने के लिए हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी |


रोहतक की सुनारिया जेल में दो साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में 20 साल की कैद की सजा काट रहे हत्याकांड में दोषी ठहराया गया था उसे इस मामले में 17 जनवरी को सजा सुने जाएगी और संभावना है की उसे बड़ी सजा मिलेगी | सुनने में आया है की राम रहीम को उम्र कैद या फांसी की सजा सुनाई जाएगी | यही हनीप्रीत ने नवम्बर के महीने में हाई कोर्ट से मोबाइल पर कालिंग की सुविधा दिए जाने की मांग की थी |

अब हनीप्रित को मिली राहत और गुरमीत राम रहीम को मिली आफत: Latest Indians News
अब हनीप्रित को मिली राहत और गुरमीत राम रहीम को मिली आफत

हनी प्रीत ने कहा था की वह मोबाइल से अपने भाई व् परिवार के सदस्यों से बात करनी चाहती है | हाई कोर्ट हनीप्रीत के याचिका को मंजूरी दी हैं जिससे वह अपने परियजनो से मोबाइल के जरिये बात कर सकती है | हनीप्रीत ने हाई कोर्ट से कहा था की उसे हर रोज अपने भाई व् अपने परिवार के सदस्यों से 5मिनट बात करने की अनुमति दी जाएँ हरियाणा के जेल में कैदियों के लिए एक सिस्टम शुरू किया है | प्रिजन इनमेट सिस्टम शुरू किया है जिससे कैदी अपने परिवार व् परियाजनो से मोबाइल कालिंग के जरिये 5 मिनट तक बात कर सकता हैं |

इसी आधार पर हनीप्रीत ने भी हाई कोर्ट से अपनी अर्जी दर्ज कराइ थी जिसे हाई कोर्ट ने मंजूरी दे दी हैं और अब हनीप्रित भी अम्बाला सेंट्रल जेल से प्रिजन इनमेट कालिंग सिस्टम के जरिये अपने परियजनो से बात कर सकेगी | दरअसल हनीप्रीत ने पंचकुला अडिशनल ज़ज की अदालत में अर्जी दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने नेगेटिव पुलिस वेरिफिकेशन होने के वजह से इसे न मंजूरी कर दिया था उस वक्त हनिप्रित द्वारा जमा कराइ गयी नम्बरों को वेरिफिकेशन के लिए भेजा गया था उसके बाद हनीप्रित ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और बोला था की मुझे भी बाकी कैदियों की तरह उसे भी प्रिजन इनमेट कालिंग की सुविधा दी जाएँ |

जेल में कैदीयो को 5 मिनट बात करने देते हैं लेकिन ये सारी रिकॉर्ड को रिकॉर्डिंग किया जाता हैं और दो हफ्ते यानी 14 दिन तक इसे संभाल के रखा जाता हैं | हनीप्रीत ने जेल में बात करने के लिए अपने भाई का नंबर दिया था जिसे पुलिस ने इसे वेरीफाई करवा लिया था लेकिन पुलिस ने हनीप्रित की मांग का विरोध किया था की इससे अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी में दिक्कते बढ़ सकती है इसलिए इसे न मंजूरी किया जाये क्योंकि गुरमीत को गिरफ्तार करने के बाद दर्ज की गयी 20 एफआईआर में कई आरोपियों की गिरफ्तारी अभी बाकी हैं | 

आदालत को बताया गया की इन एफआईआर में दर्ज की गयी 19 आरोपियों को जेल में कालिंग सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है | इसलिए पुलिस की आपत्ति को दरकिनार करते हुए हाई कोर्ट ने हनीप्रीत को मोबाइल कालिंग की सुविधा को मंजूरी दे दी हैं | हनीप्रित पर पंचकुला हिंसा को लेकर दंगो की आपराधिक साजिश रचने, गुरमीत राम रहीम को हिरासत से फरार करवाने व् देशद्रोही के आरोप लगाये थें |


Share on Google Plus

About Daily Sant Suvichar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 Comments:

Post a Comment

Thankyou to Comment in my blog