ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन के आयात पर मोदी सरकार ने क्यों लगाया प्रतिबंध

ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन के आयात पर मोदी सरकार ने क्यों लगाया प्रतिबंध || Why Modi Government has imposed restriction on imports of oxytocin injection


पिछले 60 वर्षो से भारत पर राज कर रही कांग्रेस सरकार अभी तक देखा जाये तो सिवाए भ्रष्टाचार के कुछ नहीं किया है जो अपने ही देश को लुटने में लगे रहे है और देश के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया है इनकी यही कारणों से अपने ही देश के नेताओ को चोरी करता देख कई देश के व्यपारियों तथा कारबारीयों ने भी लुट करनी शुरू कर दिया है ऐसे ही में कुछ डेरी कारबार का हो गया यानि दूध का व्यापार पैसे कमाने के हवास में व्यवसाय आम जनता के जीवन से खिलवार कर रहे थे वे अपने गाय तथा भैसों से जयादा दूध निकलने के लिए oxytocin नाम के जहरीले इंजेक्शन का इस्तेमाल करते आ रहे थे




https://latestindiansnews.blogspot.com
OXYTOCIN INJECTION

                                   

इस पर नरेन्द्र मोदी ने एक बड़ा कदम उठाया और उन्होंने oxytocin नाम के जहरीले इंजेक्शन के आयात पर पर्तिबंध लगा दिया है ये वो इंजेक्शन है जिसे love hormon के नाम से भी जाना जाता है







दरसल मवेशी पलक अपने गायो या भैसों से अधिक दूध उत्पादन के लिए अपनी मर्जी से जितना चाहे oxytocin इंजेक्शन अपने जानवरों पर इस्तेमाल करते थे इंजेक्शन के इश्तेमाल के 5-10 मिनट के अन्दर ही मवेशी (गाय ये भैस ) के शरीर का सारा दूध उसके थन पर आ जाता है जिससे गाय पलकों को दूध अधिक मात्र में प्राप्त होता है और उनको दूध निकालने में ज्यादा वक्त भी नहीं लगता है परन्तु ये तरीका बिलकुल गलत है
Oxytocin Injection Cow

oxytocin जहरीले इंजेक्शन का इस्तेमाल और नुकसान किस प्रकार से है..

  1. साधारण तरीके से निकले गये दूध से 1 से 1.50 लिटर जयादा दूध देती है, अगर मवेशी पलक से ग्राहक के पूछे जाने पर उसे साधारण विटामिन का दावा बताते है
  2. इस इंजेक्शन के इस्तेमाल से गाय/भैस का मूत्र व् गोबर तक त्याग करती है जो इन सबको पहचान होता है
  3. यही नहीं इस इंजेक्शन का असर दूध में भी आ जाता है जो हर आदमी के लिए बहुत हानिकारक साबित होता है



oxytocin जहरीले इंजेक्शन वाले दूध पिने से आदमी के शरीर पर असर

  1. Oxytocin से प्रभावित दूध के पिने से छोटे बच्चे के मानसिक विकाश स्थिर हो जाती है
  2. गर्भवती महिलाओ द्वारा इस दूध का सेवन करने से बच्चे बिक्लांग पैदा होते हिया तथा गर्भपात जैसे भयंकर रोग भी हो सकते है
  3. इससे आम आदमी की हड्डिय कमजोर हो जाती है तथ के काम करने की क्षमता भी बहुत कम हो जाती है जिससे उसके बुलने तथा ज्यादा सोने तथा सुस्त व् कमजोर जैसे फील करने लगता है
  4. इसका सबसे ज्यादा प्रभाव बच्चियों में पड़ता है तथा युवाओ में नपुंसकता भी आ जाती है
  5. इस इंजेक्शन का उपयोग सब्जियों में भी होता है जिससे सब्जियों का उत्पादन काफी मात्र में हो जाता है और सब्जियों का आकार भी काफी बढ़ जाता है परन्तु इस प्रकार की सब्जियों का सेवन करने से शरीर पर बहुत बुरा असर होता है





प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एक बैठक के द्वारा ये oxytocin नाम के जहरीले इंजेक्शन को रोकने के लिए कदम उठाया गया है क्योंकि कही डेरी मालिको और सब्जी उत्पाद के लिए इसका काफी मात्र में उपयोग के मामले सामने आए थे
इसका इंजेक्शन का उपयोग बच्चे जन्म के समय भी दर्द कम करने के लिए oxytocin का इस्तेमाल किया जाता है

केन्द्रीय उत्पाद तथा सीमा शुल्क ने मिलकर हाल ही में यह निर्णय लिया गया है की oxytocin के वाजिब इस्तेमाल को उत्पादन से पूरा किया जाएगा और उसी प्रकार से oxytocin नाम के सभी आयात को बंद किया जाएगा उस बैठक में यह भी कहा गया है की प्रतिबंध के कारण सरारती तत्व अवेध तरीके से oxytocin की तस्करी का प्रयास कर सकते है







लेकिन अब निजि कंपनिया इस oxytocin नाम के जहरीले इंजेक्शन को नहीं बनायेंगी इस oxytocin इंजेक्शन का उत्पाद अब सरकारी कंपनियों बनाया जाएगा और यह सरकार के निगरानी में होगा और केवल विशेष कार्यो में ही इसका उपयोग होगा इससे इस इंजेक्शन का ज्यादा उपयोग नहीं होगा और इसका इस्तेमाल भी काफी मात्र में काम हो जाएगा







अगर ये पोस्ट अच्छा लगा होगा तो अपने दोस्तों के बिच इसको शेयर करना न भूले और हमारे चैनल को फॉलो करे 




                                                         Thank You

                                                                           LATEST INDIANS NEWS
Share on Google Plus

About Daily Sant Suvichar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.